Monday, October 3, 2022
Homeताजा ख़बरेंनरेन्द्रनाथ को विवेकांनद बनाने वाले महान संत रामकृष्ण परमहंस की जयंती पर...

नरेन्द्रनाथ को विवेकांनद बनाने वाले महान संत रामकृष्ण परमहंस की जयंती पर विशेष…

रामकृष्ण परमहंस जयंती। रामकृष्ण परमहंस भारत के महान संत, आध्यात्मिक गुरु और विचारक थे। उनका जन्म 18 फरवरी 1836 को बंगाल प्रांत स्थित कामारपुकुर गांव में हुआ था। इनके बचपन का नाम गदाधर था। पिता का नाम खुदीराम चट्टोपाध्याय और माता का नाम चंद्रमणि देवी था। आध्यात्मिक गुरु को उनके वेदांतिक गुरु, तोतापुरी, पंजाब के एक भिक्षु द्वारा ‘परमहंस’ की उपाधि दी गई थी। आज उनकी 186वीं जयंती है। रामकृष्ण परमहंस 19वीं शताब्दी में बंगाल में हिंदू धर्म के पुनरुद्धार में एक प्रमुख व्यक्ति थे। उनका मानना था कि हर पुरुष और महिला पवित्र हैं, क्योंकि भगवान हर किसी के दिल में रहते हैं। उनके उदेवी काली के भक्त रामकृष्ण रामायण, महाभारत और भागवत पुराण के अच्छे जानकार थे। रामकृष्ण परमहंस दक्षिणेश्वर काली मंदिर के प्रधान पुजारी भी बने। उन्होंने शारदामोनी मुखोपाध्याय से शादी की, जो बाद में शारदा देवी के नाम से जानी जाने लगींपदेशों ने स्वामी विवेकानंद को भी आकर्षित किया। अंततः उनसे सबसे उत्साही शिष्य विवेकानंद बन गए। उन्होंने रामकृष्ण मिशन की स्थापना की।

रामकृष्ण परमहंस के उपदेश
धर्म पर बात करना आसान है, लेकिन उस पर अमल करना मुश्किल। भगवान के प्रेमी किसी जाति के नहीं होते। भगवान के कई नाम हैं और अनंत रूप हैं, जो हमें उन्हें जानने के लिए प्रेरित करते हैं। आप जिस भी नाम या रूप में उन्हें बुलाना चाहते हैं। उसी रूप और नाम में आप उन्हें देखेंगे। तुम रात को आसमान में बहुत सारे तारों को देखते हो, लेकिन सूर्य निकलने के बाद तारे नहीं दिखते। क्या तुम कहोगे कि दिन में आसमान में तारे होते ही नहीं। सिर्फ इसलिए क्योंकि तुम अपने अज्ञान की वजह से भगवान को देख नहीं पाते। ये मत कहो कि भगवान जैसी कोई चीज नहीं होती।अगर एक बार गोता लगाने में तुम्हें मोती न मिले। तुम्हें ये निष्कर्ष नहीं निकालना चाहिए कि समुद्र में रत्न नहीं होते। सबको प्रेम करो, कोई भी तुमसे अलग नहीं है। सामान्य आदमी झोला भरकर धर्म की बातें करता है। किंतु खुद के व्यवहार में एक दाना बराबर नहीं लाता। एक बुद्धिमान व्यक्ति बातें बहुत थोड़ी करता है, जबकि उसका पूरा जीवन धर्म के वास्तविक व्यवहार का प्रदर्शन होता है।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments